Uncategorized

Faiz — Poet , one can just live once.

मैंने समझा था कि तू है तो दरख़्शाँ है हयात तेरा ग़म है तो ग़मे-दहर का झगड़ा क्या है तेरी सूरत से है आलम में बहारों को सबात तेरी आँखों के सिवा दुनिया में रक्खा क्या है? If once , once am told to sit all my life and try coming with the wonderful ,… Continue reading Faiz — Poet , one can just live once.

Uncategorized

जीवन ताल में भटक रहा है तेरा हंसा .. This song has always touched something very distinct in my heart , the melody it conveys , the playfulness it brings with itself and I have a feeling , I really do fancy a beloved holding the loved one in arms , swaying to the charms… Continue reading

Uncategorized

Love ……Life…….Skies………..Flight

सूर्य मैं तुम्हें देखती हूँ , निहारती हूँ और चाहती हूँ , अपनी बाहों में समेट लेना। फिर तुम्हारे साथ दूर क्षितीज क़े उस पार निकल जाना. समुद्र के किनारे , तुम्हें निहारना फिर तुम्हाऱी बाँहों में सिमट आना मैं चलते रहना चाहती हूँ तुम्हारे सामीप्य में तुम्हारी किरणों में..... मुझे समेट लो अपने में… Continue reading Love ……Life…….Skies………..Flight